How to Choose Topic and Title for blog post – ब्लॉग पोस्ट के लिए कुछ महत्वपूर्ण टिप्स

टाइटल कैसे चुनें – ब्लॉग पोस्ट के लिए महत्वपूर्ण टिप्स

How To Choose Topic For Blog post

किसी भी पोस्ट का टाइटल उसकी किस्मत बना सकता है या बिगाड़ सकता है.

ब्लॉग पोस्ट के टाइटल पर ही निर्भर करता है कि आपका पोस्ट पढ़ा और शेयर किया जायेगा या इन्टरनेट के लाखों लेखों के बीच में कहीं खो जायेगा.

पोस्ट टाइटल इस बात के लिए भी महत्वपूर्ण होता है क्योंकि वही पढ़कर पाठक ये निर्णय करता है कि बाकी का पोस्ट पढ़ा जाये या नहीं.

ब्लॉग पोस्ट का टाइटल लिखने के टिप्स

इससे पहले की हम उन टिप्स पर चर्चा करें एक बात आपको हमेशा ध्यान रखना है कि कभी भी जल्दबाजी न करें. अगर आप टाइटल लिखने में जल्दबाजी करेंगे तो पोस्ट लिखने में की गयी आपकी मेहनत बेकार जा सकती है.

आइये अब जानते हैं की ब्लॉग पोस्ट का टाइटल लिखते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए.

पोस्ट से होने वाले लाभ को बताएं

ये बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि जब कोई गूगल, बिंग या किसी अन्य सर्च में कुछ खोजते हुए आपके टाइटल पर आए और उसमें ही उसको पता चल जाये कि उसको यही चाहिए था तो वो ज़रूर आपकी लिंक पर क्लिक करेगा. आपको ये पता करना है कि आपके पाठक को क्या चाहिए उसकी ज़रुरत क्या है और यही बात आपको अपने ब्लॉग पोस्ट के टाइटल में बतानी होगी. पाठक को ये पता चलना चाहिए कि उसकी इस समस्या का समाधान आपका ये ब्लॉग पोस्ट करता है.

वाद – विवाद या बहस पैदा करें  

ये भी पाठकों को आकर्षित करने का अच्छा तरीका होता है कि आप किसी बात को लेकर बहस शुरू करवा दें. आपको अपने उस स्ट्रोंग पॉइंट को पोस्ट में साबित करना पड़ेगा. ध्यान रखिये कि ये दुधारी तलवार है और इस पर बहुत संभल कर चलना है और बहस में पाठकों के तगड़े रिएक्शन भी आपको लेने के लिए तैयार रहना पड़ेगा.

यह भी पढ़े- स्टूडेंट को कौन सी ड्राइव वाला कम्प्यूटर लेना चाहिए ?

प्रश्न पूछें

जब आप प्रश्न पूछते हैं तो आम तौर पे लोग उसका उत्तर देते हैं या ये देखते हैं की बाकी लोगों ने क्या उत्तर दिया है. ब्लॉग पोस्ट के टाइटल में प्रश्न पूछने पर लोग न केवल ब्लॉग पोस्ट पढ़ते हैं बल्कि कमेन्ट भी करते हैं. कोई भी सवाल पूछने की बजाय आपका प्रश्न पाठक की ओर केन्द्रित होना चाहिए जैसे आपको प्रश्न में “आप” या “आपको” का प्रयोग करना चाहिए.

पाठक को संबोधित करें 

आप जब भी ब्लॉग पोस्ट लिख रहे हों तो इस बात का ज़रूर ध्यान रखिये कि आप पाठक को संबोधित कर रहे हैं और उसको लगना चाहिए कि आप उससे ही बात कर रहे हैं. ब्लॉग पोस्ट के साथ साथ जब आप टाइटल में भी “आप” का प्रयोग करते हैं तो इसका प्रभाव दुगना हो जाता है.

कीवर्ड का प्रयोग करें

टाइटल में कीवर्ड का प्रयोग करना दो तरह से फायदेमंद है

पहला तो ये कि ये पाठक का ध्यान आकर्षित करता है. अगर किसी को किसी चीज़ की ज़रुरत है और वो चीज़ बार बार उसके सामने आये तो उसका ध्यान उसी पर जायेगा.

दुसरे आपके ब्लॉग पोस्ट की लम्बी उम्र के लिए भी कीवर्ड ज़रूरी है क्योंकि उससे ही सर्च इंजन को पता चलता है कि आपका ब्लॉग पोस्ट किस बारे में है और इससे आपके ब्लॉग पोस्ट को सर्च में ऊपर आने में मदद मिलती है. सर्च रिजल्ट में आपका ब्लॉग पोस्ट और ऊपर आ सकता है अगर आप “टाइटल टैग्स” में भी कीवर्ड का प्रयोग करें.

इसलिए अपने ब्लॉग पोस्ट से सम्बंधित कीवर्ड को टाइटल में प्रयोग करें. ये उनके लिए और भी ज़रूरी है जो प्रोडक्ट या कंपनी के बारे में लिखते हैं.

एक और बात, अगर हो सके तो कीवर्ड को टाइटल के शुरू में इस्तेमाल करें.

पावरफुल शब्दों का इस्तेमाल करें

सब शब्दों का प्रभाव बराबर नहीं होता है और हमको ऐसे शब्दों को खोजना है जिसको पढ़कर पाठक प्रतिक्रिया व्यक्त करें. ऐसे ही कुछ शब्द नीचे दिए गए हैं –

फ्री, आश्चर्यजनक, खोजें, रहस्य, आसान इत्यादि.

पावरफुल शब्दों का प्रयोग सजगता से करें क्योंकि कई पाठकों को ये नेगेटिव अर्थ देता है.

ब्लॉग पोस्ट के टाइटल के बाद ब्लॉग पोस्ट लिखने के लिए क्या करना है वो यहाँ पढ़ें – ब्लॉग पोस्ट कैसे लिखें – 10 ज़रूरी बातें 

यह भी पढ़े- रैम किसे कहते हैं ? रैम कैसे काम करती हैं ? रैम किनते प्रकार की आती हैं ?

अपनी बात ख़तम करते हुए यही कहूँगा की दो और बातों का ध्यान रखिये एक तो टाइटल छोटा हो और दूसरा की अंत में फुल स्टॉप या पूर्ण विराम न हो.अगर टाइटल चुनने सम्बंधित कुछ और तरीके पता हों या आप कोई और स्ट्रेटेजी इस्तेमाल करते हों तो मुझे ज़रूर बताएं.

ब्लॉग पोस्ट के लिए टॉपिक कैसे चुनें – महत्वपूर्ण जानकारी

अपने ब्लॉग पोस्ट के लिए सही टॉपिक चुनना बहुत ज़रूरी हो जाता है अगर आप चाहते हैं की आपके पाठक बार बार आपके ब्लॉग पर आयें. इसके लिए आपको ऐसा टॉपिक चुनना पड़ेगा जो आपके पाठक पढ़ना चाहते हैं. अ

इसलिये कभी भी जल्दबाजी में टॉपिक चुन कर नहीं लिखना चाहिए क्योंकि जल्दबाजी में चुने गए टॉपिक के गलत होने की संभावना बहुत अधिक रहती है और इससे आपका और आपके पाठक दोनों का समय बर्बाद होता है.

ब्लॉग पोस्ट के लिए टॉपिक चुनते समय मैं कुछ बातों का ख्याल रखता हूँ जो नीचे दिए गए हैं –

पाठक की ज़रुरत को समझना

कोई भी ब्लॉग पोस्ट मेरे पाठक के लिए उपयोगी तभी होगा जब मैं उसको अपने पाठक की ज़रुरत समझते हुए लिखूंगा. ऐसा करने से मेरा ब्लॉग पोस्ट केन्द्रित रहता है और मैं उसको अपने पाठकों के लिए ज्यादा से ज्यादा उपयोगी बना पाता हूँ. इसलिए आप जब भी ब्लॉग पोस्ट के लिए टॉपिक का चुनाव करें तो इस बात का ज़रूर ध्यान रखें की ये आपके पाठकों की ज़रुरत को कैसे पूरा करने वाला है.

पाठक बनकर लिखना

जब भी आप ब्लॉग पोस्ट के लिए टॉपिक चुनिए, अपने पाठकों को ध्यान में रखिये कि उसकी ज़रुरत क्या है, उसकी परिस्थिति क्या है, उसके प्रश्न क्या हो सकते हैं और उसके लिए क्या क्या चुनौती है. इन बातों को ध्यान में रखकर अगर आप टॉपिक चुनेंगे तो वो आपके पाठकों के लिए व्यवहारिक रहेगा और वो उसको पसंद करेंगे.

दूसरों से खुद को अलग करना 

ज़्यादातर ब्लॉगर अक्सर उसी टॉपिक पे लिखते हैं जो दुसरे ब्लॉगर अपने ब्लॉग पोस्ट में लिख रहे होते हैं. अब हमको इस बात पर ध्यान देना है कि हम अपने टॉपिक में कुछ नया क्या दे रहे हैं जो दुसरे ब्लॉगर नहीं दे रहे हैं. इसलिए हमको अपने ब्लॉग पोस्ट में वो नयापन लाना पड़ेगा जिसको पढ़कर पाठक संतुष्ट अनुभव करें

ऐसा लिखना जो आपके लिए मूल्य रखता है 

जब भी मैं ब्लॉग पोस्ट के लिए टॉपिक चुनता हूँ तो मेरे दिमाग में यही बात रहती है कि अगर मैं इसको पढूंगा तो ये मेरे लिए कितना उपयोगी है. कहीं मेरा ये टॉपिक एक साधारण लेख बनकर न रह जाए इसलिए मैं उन टॉपिक्स को लेता हूँ जिसको मैं महसूस करता हूँ. और ऐसा करने से शायद वो पाठकों के लिए ज्यादा उपयोगी बना पाता हूँ.

ट्रेंड को पहचान कर लिखें 

आपको ये पता होना चाहिए कि लोग क्या खोज रहे हैं, किस तरह के टॉपिक्स वो पढ़ना चाहते हैं और गूगल में क्या सर्च करते हैं. इसके लिए आप गूगल कीवर्ड टूल की भी सहायता ले सकते हैं. आपको साथ साथ सोशल मीडिया जैसे फेसबुक, ट्विटर या यूट्यूब पर भी नज़र रखनी होगी कि लोग किन किन टॉपिक्स को लेकर चर्चा कर रहे हैं और आप उन टॉपिक्स पर नया क्या दे सकते हैं.

एक ब्लॉग पोस्ट एक टॉपिक 

अगर हम एक ब्लॉग पोस्ट में एक ही टॉपिक कवर करेंगे तो हम अच्छे से अपने टॉपिक को समझा पाएंगे और इस बात पर भी फोकस कर पाएंगे की उसको पाठकों के लिए और उपयोगी कैसे बना सकते हैं. ज़्यादातर लोग ऑनलाइन पढ़ते समय टॉपिक को स्कैन करते हैं और एक चीज़ पे टिके नहीं रहते हैं इसलिए ये ज़रूरी है कि आप एक ही टॉपिक को सिंपल तरीके से समझा दें और बाकि टॉपिक्स को अलग ब्लॉग पोस्ट में प्रस्तुत करें.

यह भी पढ़े-ब्लॉग कैसे शुरू करें और ब्लॉग पोस्ट कैसे लिखें – 10 ज़रूरी बातें

यहाँ ये बात भी समझना ज़रूरी है कि आपके सारे ब्लॉग पोस्ट ऊपर बताये सारे पॉइंट्स पे खरे नहीं उतरेंगे क्यूंकि कई बार ऐसा भी होगा की आपको ऐसा टॉपिक लेना पड़ेगा जिसको लेकर आप ज्यादा उत्साहित नहीं हैं या फिर कोई ऐसा टॉपिक है जिसके लिए आप उत्साहित तो हैं लेकिन वो ट्रेंड नहीं है. इन सबके बीच ही आपको ऐसा टॉपिक मिलेगा जो आपके ब्लॉग पोस्ट के लिए बेस्ट रहेगा.

आपको ये लेख कैसा लगा और आपके सुझाव या टिप्पड़ी का मुझे इंतज़ार रहेगा.

Post a Comment

0 Comments