Make Blogging So Easy- ब्लॉगिंग को आसान बनाने के 5 बेहतरीन तरीके

ब्लॉगिंग को आसान बनाने के 5 बेहतरीन तरीके

Make Blogging So Easy


अक्सर हम समझते हैं की ब्लॉगिंग की प्रक्रिया कुछ इस तरह से होती है
  • एक आईडिया सोचना
  • ब्लॉग पोस्ट लिखना
  • ब्लॉग पोस्ट के लिए फोटो एडिट करना
  • ब्लॉग पोस्ट फॉर्मेट करना
  • ब्लॉग पोस्ट पब्लिश करना
  • ब्लॉग पोस्ट का सोशल मीडिया में प्रचार करना
  • कमेंट्स का उत्तर देना
लेकिन ये सब सिर्फ एक शुरुआत मात्र है और इसमें प्लानिंग, लक्ष्य बनाना, कंटेंट कैलेंडर, ब्लॉग डिजाईन, सोशल मीडिया वर्कफ्लो, स्पोंसोर्शिप, एफिलिएट सेल्स, गेस्ट ब्लॉग, ईमेल मार्केटिंग और न्यूज़ लैटर जैसी बहुत सी चीज़ें आती हैं.

अगर आप ब्लॉग पोस्ट कैसे लिखना चाहिए ये जानना चाहते हैं तो ये पोस्ट पढ़ें.

कहने का मतलब है कि हमारे पास करने के लिए बहुत कुछ होता है और अपने अनुभव के आधार पर मैं ये कहता हूँ की मैंने बहुत समय व्यर्थ किया है क्योंकि अगर आप नौकरी और पारिवारिक जीवन के साथ साथ ब्लॉगिंग करते हैं तो आपके पास समय बहुत सीमित है और उसका पूरा उपयोग करना चाहिए. उसी आधार पर ये ५ स्टेप्स बनाये हैं जो आपके लिए मददगार साबित होते हैं.

ब्लॉगिंग 

ब्लॉगिंग को आसान बनाने के 5 बेहतरीन तरीके

बैचिंग

बैचिंग का मतलब होता है जब आप एक तरह का काम एक साथ करते हैं. जैसे कोई ब्लॉग पोस्ट लिखते समय आप पूरा पोस्ट लिखने के बाद आप उसमें इमेज या विडियो डालते हैं और एडिट करते हैं लेकिन ऐसा न करके आप कई पोस्ट लिखने का काम एक साथ कर लें फिर उसमें इमेज एक साथ डालें और एक साथ एडिट करें तो इसको बैचिंग कहते हैं. इसका फायदा ये होता है की आप एक काम करते समय उसी तरफ दिमाग लगते हैं और इससे वो काम अच्छी तरह होता है. आपका दिमाग एक काम से दुसरे काम के बीच बार बार बदलता नहीं है.

ब्लॉग पोस्ट लिखने के लिए, सोशल मीडिया पोस्टिंग के लिए, रिसर्च के लिए, और इमेज खोजने के लिए आप अलग अलग दिन चुन कर उनको एक साथ कर सकते हैं.

समय-सारिणी (शेड्यूलिंग)

आपको अपने समय और कंटेंट दोनों के लिये शेड्यूलिंग करनी चाहिए. जैसे जब मेरे पास समय होता है तो मुझे कौन सा काम सबसे पहले करना है मैं ये तय कर लेता हूँ. मेरी कोशिश यही रहती है कि जो भी सबसे मुश्किल काम है मैं वो सबसे पहले निपटा लूँ ताकि अगर कोई काम लेट हो रहा हो तो मैं बाकि दिन उसको कवर कर लूँ.

मेरे लिए सबसे मुश्किल काम होता है कंटेंट लिखना इसलिए सबसे पहले मैं उसको करता हूँ जब मेरा दिमाग शांत रहता है और मैं अच्छी तरह सोच सकता हूँ. उसके बाद ही मैं बाकि के काम में हाथ लगाता हूँ.

कंटेंट लिखने का शेड्यूल बनाना तब बहुत उपयोगी होता है जब आपके पास रोज़ लिखने का वक़्त नहीं है या आप कुछ दिन के लिए ब्रेक ले रहे हैं. ऐसा करने से आपका जीवन आसान रहता है.

कुशलता से काम करने का समय खोजना

दिन में हर वक़्त आप कुशलता से काम नहीं कर सकते हैं इसलिए ये ज़रूरी है कि हमको पता होना चाहिए कि किस वक़्त हम सबसे अच्छी तरह काम कर सकते हैं. एक दिन मेरी नीद अचानक से जल्दी खुल गयी बाहर अँधेरा था अभी दिन नहीं निकला था. मुझे नींद भी नहीं आ रही थी. इसलिए मैंने सोचा की मैं कुछ पढ़ लेता हूँ. मैं ये देख कर हैरान रह गया कि मैं बहुत ही ध्यान से मन लगाकर पढ़ता गया और मुझे वक़्त का पता ही नहीं चला. उसी वक़्त मुझे पता चला कि मेरे लिए सुबह काम करने का वक़्त बहुत अच्छा है. इसी तरह आपको ये खोजना पड़ेगा कि आप के लिए सबसे अच्छा समय क्या है.

ऑटोमेशन

आज के युग में अगर हमारे पास ऑटोमेशन टूल्स नहीं हैं तो खुद सारा काम कर पाना बहुत मुश्किल हो जायेगा. अगर आपके बहुत सारे काम अपने आप हो जायें तो किसको नहीं अच्छा लगेगा ? और सबसे बड़ी बात आपको और महत्वपूर्ण काम करने के लिए वक़्त मिल जायेगा.

आप अपने ब्लॉग में बहुत सी चीज़ें ऑटोमेट कर सकते हैं जैसे ईमेल का जवाब देना. ऑटोमेशन टूल्स की सबसे ज्यादा उपयोगिता होती है सोशल मीडिया को मैनेज करने में. इन टूल्स में आप पोस्ट को प्लान कर सकते हैं कि किस दिन किस वक़्त कौन सा पोस्ट जायेगा. जैसे मैं सोशल मीडिया के लिए BUFFER का प्रयोग करता हूँ. COSCHEDULE और SPROUT SOCIAL का भी प्रयोग आप कर सकते हैं.

प्लानिंग

सबसे ज्यादा ज़रूरी जो आपके लिए है वो है प्लानिंग. इसके बाद आपको अन्तर साफ़ दिखेगा कि आपके काम सब समय पर होते हैं और आपके पास वक़्त होता है कुछ और करने का.

एक बार जब मैंने समय की प्लानिंग कर ली उसके बाद मैं ध्यान देता हूँ अपने कंटेंट की प्लानिंग पर. इससे आपको अपनी प्रोग्रेस भी पता चलती है और विचार करने का समय भी. सही दिशा में आगे बढ़ने के लिए ये अत्यंत ज़रूरी है. आपके पास एक एडिटोरियल कैलेंडर होना चाहिए जिसमें महीने भर में आपको किस दिन क्या लिखना है ये पता होना चाहिए. आप गूगल कैलेंडर का भी प्रयोग कर सकते हैं.

तो ये 5 तरीके हैं जो मैं प्रयोग करता हूँ अपने ब्लॉगिंग जीवन को आसान बनाने के लिए, अगर आपके पास कुछ और तरीके हैं तो मेरे साथ ज़रूर शेयर करिए.

Post a Comment

0 Comments