History of Chennai Super Kings (CSK), चेन्नई सुपर किंग्स का इतिहास

चेन्नई सुपर किंग्स का इतिहास

चेन्नई सुपर किंग(CSK) आईपीएल में खेलने वाली एक टीम है जो कि तमिलनाडु चेन्नई से संबंध रखती है, चेन्नई सुपर किंग की स्थापना 2008 में की गई थी और इस टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी है, और इस टीम के बनने के बाद से आज तक महेंद्र सिंह धोनी के अलावा कोई और कप्तान नहीं बना है।

चेन्नई सुपर किंग को 2 साल के लिए आईपीएल से दूर रहना पड़ा था जब 2015 में चेन्नई सुपर किंग्स के मालिक पर 2013 में आईपीएल बैटिंग फिक्सिंग केस लगा था। 2013 में आईपीएल के ऊपर कलंक नजर आया जब यहां पर आईपीएल फिक्सिंग की खबरें सामने आने लगी थी और चेन्नई सुपर किंग के मालिक भी आरोप से घिरे हुए नजर आए थे मैच फिक्सिंग के आरोप के कारण को 2 साल के लिए सस्पेंड कर दिया गया था

चेन्नई सुपर किंग को आईपीएल पर राज करने वाली चैंपियन टीम माना जाता है। और इसको yellow आर्मी भी कहते हैं। हर सीजन में ये टीम अपना जौहर बिखेर देती है, और यही वजह है कि सबसे ज्यादा फाइनल मैच खेलने वाली टीम है। 
  • चेन्नई सुपर किंग्स कप्तान- महेंद्र सिंह धोनी 
  • चेन्नई सुपर किंग्स के कोच- स्टीवन फ्लेमिंग
  • चेन्नई सुपर किंग्स आईपीएल विजेता- 2010, 2011, 2018
  • आईपीएल उप विजेता - 2008, 2012, 2013, 2015
आईपीएल के अंदर चेन्नई की अभी तक सबसे अच्छा  जीत का औषत बना हुआ है चेन्नई 62 फीसदी  से ज्यादा मैच जीत जाती है प्लेऑफ में सबसे ज्यादा खेलने का रिकॉर्ड अभी तक चेन्नई के नाम है, चेन्नई 10 बार प्लेऑफ खेल चुकी है 8 बार फाइनल में खेलती हुई दिखी है। सीएसके कि अगर हम ब्रांड वैल्यू की बात करें तो 2019 में यह 732 करोड़ के लगभग नजर आई है। 732 करोड़ की यह टीम आईपीएल की एक महत्वपूर्ण है और मुंबई इंडियन के बाद यह आईपीएल की दूसरी सबसे महंगी टीम है।

फ्रेंचाइजी का इतिहास

जब 2008 शुरुआत हुई तो जनवरी महीने में ही बीसीसीआई ने आईपीएल की सारी टीमों का घोषणा किया और चेन्नई सुपर किंग उस वक्त की चौथी सबसे महंगी टीम थी जो कि 91 मिलीयन डॉलर्स में खरीदी गई थी।  सीएसके का मालिकाना हक इंडिया सीमेंट को बताया गया था, शुरुआती 10 सालों के लिए इंडिया सीमेंट में चेन्नई सुपर किंग को खरीदा था, आईसीसी चेयरमैन ने खुद को चेन्नई सुपर किंग का मालिक बताया, बाद में जब सुप्रीम कोर्ट के अंदर मामला गया तो इसका मालिकाना हक बदल दिया गया जी को एक स्वतंत्र है जिसका नाम चेन्नई सुपर किंग क्रिकेट दिया गया। 

चेन्नई सुपर किंग पर हुवे विवाद

चेन्नई सुपर किंग टीम को 2016 और 2017 आईपीएल खेलने पर प्रतिबंध कर दिया गया था, चेन्नई सुपर किंग टीम के ऊपर स्पॉट फिक्सिंग का मामला दर्ज हुआ था टीम के खिलाड़ी अन्य टीम खेल रहे थे और इस टीम की जगह पर एक नई टीम रखी गई थी जो कि यह 2016 और 2017 में राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स के नाम से आईपीएल खेली थी और इस टीम की कप्तान महेंद्र सिंह धोनी थे। 

चेन्नई सुपर किंग ब्रांड वैल्यू

आईपीएल में अगर चेन्नई सुपर किंग की ब्रांड वैल्यू की बात करें तो अब सबसे महंगी टीमों में से एक है. शुरू के दिनों में जब आईपीएल शुरू हुआ था तो यह चौथे पायदान पर थी और उसके बाद और भी पीछे चली गई थी रबड़ के प्रदर्शन की वजह से 2019 में स्टीम की ब्रांड वैल्यू 732 करोड़ के करीब नजर आई थी चेन्नई सुपर किंग का ऑक्शन बजट 8. 4 करोड़ होता है जैसे कि पिछली बार इन्होंने ऑक्शन बजट में कुछ 6 करोड रुपए खर्च किए थे चेन्नई सुपर किंग के वर्तमान मालिक सुपर किंग्स क्रिकेट लिमिटेड एंड श्रीनिवासन है।

आईपीएल 2009 इतिहास

साल 2009 के आईपीएल की बात करें तो यह दक्षिण अफ्रीका में खेला गया था 2009 में भारत के अंदर लोकसभा चुनाव होने थे और इसी कारण आईपीएल भारत में नहीं हो पा रहा था और किसको दक्षिण अफ्रीका शिफ्ट कर दिया गया था। 

आईपीएल 2010 और 2011 का इतिहास

आईपीएल 2010 चेन्नई सुपर किंग के लिए बेहद रोमांचक रहा था इस आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग टीम को बहुत ज्यादा मेहनत करनी पड़ी थी, क्योंकि शुरुआती के साथ मुकाबलों में से चेन्नई सुपर किंग सिर्फ दो ही जीत पाई थी और फिर चेन्नई ने कमाल कर दिखाया, उसके बाद सारे ही मैच  जीतकर चेन्नई 2010 में पहली बार फाइनल का किताब भी ले गई चेन्नई सुपर किंग में मुंबई इंडियन स्कोर 22 रनों से मात दे दी और वह मैच जीत लिया

2011 में आईपीएल में दो नई टीमों को जोड़ा गया था।  और चेन्नई सुपर किंग ने इस बार पुराने खिलाड़ियों के ऊपर विश्वास दिखाया,

 साल 2011 में नियमों में बदलाव किया गया था जिसमे हर टीम में अधिकतम 4 खिलाड़ी वापस से रिटर्न किए जा सकते थे जिसमें से की तीन इंडियन खिलाड़ी होने थे, जिसमें से महेंद्र सिंह धोनी "कप्तान" सुरेश रैना और मुरली विजय के साथ ऑलराउंडर मोर्केल को रिटर्न किया, साल 2011 में भी चेन्नई ने फाइनल मुकाबले में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को हराकर 2011 में भी जीत का खिताब हासिल कर लिया। साथ ही 2011 के इस सीजन में चेन्नई सुपर किंग्स पहली ऐसी टीम बनी थी जिसने कि अपने सभी घरेलू मुकाबले जीते थे। 

आईपीएल साल 2016 और 2017 का इतिहास 

2016 और 2017 के अंदर चेन्नई सुपर किंग्स ने आईपीएल में हिस्सा नहीं लिया था. आईपीएल में हो रही मैच फिक्सिंग और स्पॉट फिक्सिंग के कारण चेन्नई सुपर किंग्स के ऊपर 2 साल का प्रतिबंध लगा दिया गया था. चेन्नई सुपर किंग्स का नाम आईपीएल की spot-fixing में आया था और विवादों के कारण ही चेन्नई की टीम को बाहर किया गया था। 

आईपीएल 2018 का इतिहास चेन्नई सुपर किंग की वापसी

2018 के अंदर चेन्नई सुपर किंग में एक बार फिर से आईपीएल में वापसी की थी, और महेंद्र सिंह धोनी को टीम का कप्तान बनाया गया था।  और इस साल चेन्नई सुपर किंग ने शानदार प्रदर्शन किया शुरू के 14 मुकाबलों  में चेन्नई सुपर किंग 9 जीत और पांच मुकाबले हारने के बाद में फाइनल में जगह बनाई थी, और साल 2018 में शेन वॉटसन की शानदार पारी की बदौलत चेन्नई सुपर किंग फाइनल मैच जीत गई थी और 2018 का आईपीएल फाइनल का खिताब अपने नाम कर लिया था। 

चेन्नई सुपर किंग का घरेलू मैदान

चेन्नई सुपर किंग के घरेलू मैदान की बात करें तो यह यम.ए चिदंबरम स्टेडियम है जिसको की चौपाल के नाम से जाना जाता है यह चेन्नई में स्थित है इस स्टेडियम का नाम बीसीसीआई के पूर्व चेयरमैन एम.ए चिदंबरम के नाम पर रखा गया था। 

Post a Comment

0 Comments